ऑस्ट्रेलिया ने दूसरे वनडे में भी भारत को 7 विकेट से हराया|



दो मेच, दोनो मेच में रोहित शर्मा की शानदार शतकीय पारिया, दोनो में 300 से ऊपर रन और दोनों मेच में भारत की करारी हार| जी हा रोहित शर्मा के लिए ऑस्ट्रेलिया दौरे की बेहतरीन शुरुआत हुई है लेकिन भारत के लिए नहीं| ऑस्ट्रेलिया ने ब्रिसबेन मेच में भारत को 7 विकटो से मात दी| पर्थ में खेले गए मेच में भी ऑस्ट्रेलियाने भारत को 5 विकटो से हराया था| ब्रिसबेन मेच में ख़राब गेंदबाजी और ख़राब फील्डिंग की वहज से भारत को मेच गवानी पड़ी|
ब्रिसबेन में भारत ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने का फेसला लिया| भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही ओर शिखर धवन सिर्फ 6 रन ही बनाकर आउट हो गए| उसके बाद रोहित शर्मा और विराट कोहलीने भारतीय पारी को अच्छे तरीके से आगे बढाया| विराट कोहली अच्छा खेल रहे थे लेकिन दूसरा रन लेने की चाहत में रनआउट होकर अपना विकट गवा दिया| विराट ने 67 गेंदोंमें 4 चौके की सहायता से 59 रन बनाए| उसके बाद आए आजिंक्य रहाने ने भी 6 चौके और 1 सिक्स की मदद से 80 गेंदोंमें 89 रन बनाए| रोहित शर्मा भी 127 गेंदों में 11 चौके और 3 सिक्स की मदद से 124 रन बनाकर आउट हो गए| उसके बाद सभी बेट्समेन तेजी से रन बनाने के चक्करमें अपना विकट गंवाते हुए दिखे| धोनी 11 रन, पांडे 6, जाडेजा 5 और अश्विनने 1 रन बनाया|
भारत ने 50 ओवरोंमें 8 विकट गवांके 308 रन बनाए|
बदले में ऑस्ट्रेलियाकी पारी की फिंच और मार्श ने बेहतरीन शुरुआतकी | इन दोनों बल्लेबाजो ने पहले विकट के लिए 145 रन की शतकीय साजेदारी बनायीं | इस पार्टनरशिपमें भारतीय फील्डिंगका भी उतना ही योगदान रहा|
भारतीय फील्डरोने मार्शके 4 बार केच ड्रोप किया| जिसकी बदौलत मार्शने 71 रन बनाए| फिंच ने भी 71 रनों की पारी खेली| उनके बाद आए ऑस्ट्रेलियाइ कप्तान स्मिथ ने भी 46 रन जोड़े| ज्योर्ज बेईली ने पहले मेच की तरह ही शानदार बल्लेबाजी करते हुए सिर्फ 58 गेंदों में 6 चौके और 1 सिक्स की मददसे 76 रनो की नाबाद पारी खेली|
मेक्सवेलने भी 26 रनोका योगदान दिया|
इस तरह अब ऑस्ट्रेलियाने सीरीजमें 2-0 की बढ़त बनाली है| हार के बाद धोनी अपने गेंदबाजो से बहोत नाराज दिखे| धोनी ने कहा की इस तरह की गेंदबाजीमें जितने के लिए कमसेकम 330 रन बनाने चाहिए थे|
इसके साथ ही 300 रन बनाने के बावजूद हारने वाली टीम में भारत ने इंग्लैंड के साथ पहला स्थान शेयर किया है| भारत और इंगलैंड दोनों ही 10 बार 300 का स्कोर करने के बावजूद हारे है| इन 10 में से 6 मेचमें भारत के कप्तान धोनी थे|
Share on Google Plus

About Aspiring Blogger