आज ही के दिन भारत ने दर्ज की थी इंग्लैंड के खिलाफ यादगार जीत


भारतीय क्रिकेट के लिए आज का दिन काफी महत्वपूर्ण है. जी हाँ, आज ही के दिन 2002 में भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ क्रिकेट का मक्का कहे जाने वाले लार्ड्स के मैदान पर एतिहासिक जित हांसिल की थी.


बात 13 जुलाई, 2002 को इंग्लेंड के खिलाफ लॉर्ड्स के मैदान पर खेली गई नेटवेस्ट सिरीज़ के फ़ाइनल की है. यह मेच भारत के सफल रन चेज़, मोहम्मद कैफ - युवराज़ सिंह का परफोर्मस, विदेश में भारतीय टीम की जीत की शुरुआत के तौर पर याद की जाती है. 

इसी मेच में जीत के बाद सौरव गांगुली ने लॉर्ड्स की बालकनी में से फ्लिंटॉफ को उसकी बदतमीजी का जवाब देने के लिए अपना टीशर्ट उतारा था जो द्रश्य सालो तक भारतीय क्रिकेट के चाहको को याद रहेगा.

इस मेच में इंग्लेंड के कप्तान नासिर हुसेन ने टॉस जित के पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया था. माइकल ट्रेस्कोथिक और कप्तान नासिर हुसेन के शतकीय पारी की बदौलत इंग्लेंड ने 325 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था. ट्रेस्कोथिक ने 109 जबकि कप्तान नासिर हुसेन ने 115 रन बनाये थे.  


भारत को 300 से ज्यादा का स्कोर चेज़ करना था जो उस दौर में तो नामुमकिन ही मन जाता था. 326 के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की ओर से वीरेन्द्र सेहवाग और सौरव गांगुली की जोड़ी ने सिर्फ 14.3 ओवरों में ही 106 रनों की शतकीय साज़ेदारी करके शानदार शुरुआत दिलाई.

लेकिन 106 के स्कोर पर सौरव गांगुली  (60 रन) और 114 के स्कोर पर वीरेन्द्र सेहवाग (45 रन) के आउट होने के बाद भारतीय पारी डगमगा गई. इन दोनों के आउट होने के बाद दिनेश मोंगिया ( 9 रन), सचिन तेंदुलकर ( 14 रन ) और राहुल द्रविड़ ( 5 रन ) के विकेट जल्दी जल्दी गिर गए. इस वक्त भारत का स्कोर 24 ओवरों में 5 विकेट पर 146 था. भारत को अभी जित के लिए बहुत लम्बी मंजिल कटनी थी जो लगभग नामुमकिन सा था.

तब क्रीज़ पर आई भारत की विजयी जोड़ी मोहम्मद कैफ और युवराज सिंह की. जिन्होंने इसके बाद कई मेचो में भारत के लिए बेटिंग और फील्डिंग से शानदार प्रदर्शन किया.

   


युवराज और कैफ की जोड़ी ने 17.4 ओवरों में 185 रनों की साज़ेदारी करते हुये भारत को जित के करीब ला दिया. युवराज 63 गेंदों में 9 चौके और 1 छक्के की मदद से 69 रन बनाकर आउट हुये. जबकि कैफ ने सिर्फ 75 गेंदों में 6 चौके और 2 छक्के लगते हुये 87 रन बनाकर नाबाद रहे.

बहुत ही रोमांचक मुकाबले में भारत ने इंग्लैंड को 2 विकेट से हराया जबकि 3 गेंदे अभी बाकि थी. मोहम्मद कैफ को इसी पारी की वजह से मेन ऑफ़ ध मेच चुना गया.

आज जी इसी मेच का हर क्षण रोमांचित कर देता है फिर वो चाहे सेहवाग- सौरव की बेटिंग हो, युवराज-कैफ की साज़ेदारी या फिर इंग्लेंड को उसीको घरमे हराने के बाद दादा की टी शर्ट निकालने वाली दादागिरी. 



मेच के आखरी पलो का विडिओ और दादा का टी शर्ट ऑफ़ मोमेंट देखे :





Share on Google Plus

About Aspiring Blogger