एंटीगुआ टेस्ट में शमी-यादव का करार वार - विंडीज़ पर पारी की हार का खतरा


पहले बल्लेबाजो की शानदार बेटिंग और बाद में तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी और उमेश यादव की कातिल गेंदबाजी की वजह से एंटीगुआ टेस्ट में वेस्ट इंडीज़ की टीम के सामने पारी की हार का खतरा मंडरा रहा है. तीसरे दिन वेस्ट इंडीज़ की टीम शमी और यादव के तूफान के सामने बेबस नजर आई.
वेस्ट इंडीज़ की पहली पारी 243 रन पर सिमट गई. फॉलोऑन के बाद दूसरी पारी में भी वेस्ट इंडीज़ ने 1 विकेट गँवा दिया है. भारत ने 2006 के बाद वेस्ट इंडीज़ को फॉलोऑन दिया.

तीसरे दिन बल्लेबाजी करने उतरी वेस्ट इंडीज़ की टीम ने 31 रन से आगे खेलना शुरू किया. ब्रेथवेइट और बिशु की जोड़ी ने संभलकर खेलना शुरू किया. दोनों ने दुसरे विकेट के लिए 38 रन जोड़े लेकिन बिशु ब्रेथवेइट का ज्यादा साथ नहीं दे पाये और 12 रन बनाकर मिश्रा पहला का शिकार बने. 

अभी स्कोर में महज 22 रन ही जुड़े थे की डेर्रेंन ब्रावो 11 के स्कोर पर शमी का शिकार बने. वेस्ट इंडीज़ का स्कोर 90 रन पर 3 विकेट हुआ. उसके कुछ ही ओवर में शमी ने फिर से एक ही ओवर में सेम्युअल्स और ब्लेकवूड को चलता किया. स्कोर हुआ 5 विकेट पर 92 रन.

उसके बाद कप्तान होल्डर और दोव्रिच ने पारी को संभाला लेकिन टीम को फॉलोऑन से बचा नहीं पाये. सबसे ज्यादा ब्रेथवेइट ने 74 रन बनाये. दोव्रिच ने अर्धशतक लगते हुये 57 रन और होल्डर ने 37 रनों की पारी खेली. 
  



वेस्ट इन्दिज की पूरी टीम 243 रन पर आल आउट हो गई. भारतीय कप्तान कोहली ने वेस्ट इंडीज़ को फॉलोऑन दिया. 323 रनों के बोझ के साथ उतरी वेस्ट इंडीज़ की टीम की दूसरी पारी की शुरुआत भी अची नहीं रही. पहली पारी में सबसे ज्यादा रन बनानेवाले ब्रेथवेइट इस पारी में कुछ खास कमल नहीं कर पाये और सिर्फ 2 रन बनाकर इशांत शर्मा का शिकार बने.

तीसरे दिन के खेल के बाद वेस्टइंडीज़ का स्कोर 21 रन 1 विकेट के नुकशान पर है. वेस्ट इंडीज़ अभी भी 302 रन पीछे है और 9 विकेट अभी बाकि है. वेस्ट इंडीज़ को पारी की हार से बचने के लिए अब लाफि अच्छी बल्लेबाजी करनी होगी. इस मोड़ से तो भारत की जीत पक्की लग रही है.
Share on Google Plus

About Aspiring Blogger